Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

खिलाड़ियों के मैडल गंगा नदी में प्रवाहित करने के एलान के बाद हुआ यह,,पढिये पूरी खबर

This happened after the announcement of the players' medals being flown in the river Ganges, read the full news

पिछले 1 माह से अधिक समय से कुश्ती संघ के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे देश के नामचीन खिलाड़ी आज बहुत ही ज्यादा आक्रोशित हो गए हैं। और वह अपने उन मेडलो को हरिद्वार की गंगा नदी में प्रवाहित करने के लिए पहुंच गए। खिलाड़ियों का कहना है कि जब सरकार उनकी कोई भी बात सुनने के लिए ही तैयार नहीं है और दोषी को सजा देने की बजाय उसका पक्ष लिया जा रहा है तो उनको सम्मान के तौर पर जो मेडल मिले हैं वह उनके किसी काम के नहीं हैं इसलिए वह अपने मैडल गंगा नदी में विरोध प्रदर्शन के तौर पर प्रवाहित कर देंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मैडल को गंगा नदी में प्रवाहित करने के लिए प्रदर्शन कर रहे खिलाड़ी वहाँ पहुंच भी गए थे।

इसके बाद वहाँ पहुंचे किसान यूनियन के अध्यक्ष ने खिलाड़ियों को समझा बुझाकर उन्हें शांत कराया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार किसान नेता ने खिलाड़ियों को आश्वासन दिया है कि उन्हें 5 दिन की मोहलत दो वह उन्हें इंसाफ दिलाएंगे। इसके बाद खिलाड़ियों ने मैडल उन्हें सौप दिए और वापस लौट गई।
मीडिया रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 1 माह से अधिक समय से कुश्ती संघ के पूर्व अध्यक्ष भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए धरना प्रदर्शन कर रहे महिला खिलाड़ी अब उनकी गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं । मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीते 28 तारीख को प्रदर्शन कर रहे खिलाड़ी नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह वाले दिन संसद भवन के सामने महिला महापंचायत करने के लिए एलान किए थे । इसके बाद पुलिस ने उन महिला खिलाड़ियों को पहले तो समझाया जब वह नहीं माने तो उन्हें हिरासत में लिया गया था बाद में छोड़ दिया गया था । मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली पुलिस ने खिलाड़ियों की जंतर मंतर पर लगे टेंट को भी उखाड़ दिया था। इसी बात को लेकर खिलाड़ी बहुत ज्यादा आक्रोशित हो गए और उन्होंने ऐलान किया कि उनके साथ जब इंसाफ नहीं हो रहा है तो वह अपने मैडल को हरिद्वार में जाकर गंगा नदी में बहा देंगे। और आज सभी खिलाड़ी इसी उद्देश्य हरिद्वार में गंगा नदी किनारे पहुंच भी गए थे।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार खिलाड़ियों को उनके मेडल ना बहाने के लिए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने वहां पहुंचकर काफी मान मनव्वल किया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार किसान नेता श्री टिकैत ने उन खिलाड़ियों को आश्वासन दिया कि वह सिर्फ 5 दिन के लिए रुक जाए वह उनकी समस्या का समाधान कराएंगे। इसके बाद खिलाड़ियों ने अपने सारे मेडल उनको सौंप दिए और वापस अपनी जगह पर लौट आई।

कुश्ती संघ के पूर्व अध्यक्ष ने मीडिया से कही यह बात

हरिद्वार में हुए इस घटनाक्रम के संबंध में कुश्ती संघ के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पूरे मामले की जांच होने दीजिए अब उनके हाथ में कुछ नहीं है पूरा मामला दिल्ली पुलिस के हाथ में है । मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हीं महिला खिलाड़ियों के निवेदन पर मामला दर्ज हुआ और मामले की जांच चल रही है । अब हम उसमें उनकी क्या मदद कर सकते हैं। उन्होंने कहा वह मेडल फेंकने वह गंगा जी में गई थी उन्होंने गंगा जी में फेंकने की बजाय मेडल टिकैत को दे दिया इस संबंध में हम और क्या कहें।पूरे मामले की जांच चल रही है।

देखिये पूरी खबर चैनल पर

Leave a Comment