Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

इंस्पेक्टर समेत कई अन्य ने वर्दी को किया शर्मसार,,औरैया में लूट के आरोपी इंस्पेक्टर दरोगा समेत 6 गिरफ्तार,,

Inspector and many others shamed the uniform, 6 arrested including Inspector Daroga, accused of robbery in Auraiya

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर सर्राफ व्यापारी से लूटी थी 50 किलो चांदी, व्यापारी के कर्मचारी ने बनाई थी योजना

(रिपोर्ट – अमित चतुर्वेदी )

Subscribe our channel : up news sirf sach

Auraiya news today । बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर सर्राफ व्यापारी से हुई लूट का खुलासा एसपी चारु निगम ने शुक्रवार को पुलिस कार्यालय ककोर में करते हुए बताया कि सर्राफ व्यापारी की दुकान से निकाले गए कर्मचारी ने व्यापारी से लूट की योजना बनाई थी। इस योजना में उसके साथियों के अलावा इंस्पेक्टर और दरोगा भी शामिल हुए। सभी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर सर्राफ व्यापारी की कार रुकवाई और व्यापारी के चालक को बंधक बनाकर गाड़ी में रखी 50 किलो चांदी लूटकर फरार हो गए। 6 जून को हुई घटना का मुकदमा अगले दिन 7 जून को दर्ज हुआ था। पलिस सीसीटीवी कैमरे के सहारे आरोपियों तक पहुंच गई और भोगनीपुर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अजय पाल कठेरिया के सरकारी आवास से 50 किलो चांदी बरामद कर लिया। जिसमें इंस्पेक्टर दरोगा समेत 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया जबकि मुख्य आरक्षी फरार है। आईजी कानपुर जोन ने इंस्पेक्टर दरोगा व हेड कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है।
गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि संजय चिकवा उर्फ संजय टोपी ने करीब आठ महीने पहले मनीष सोनी पुत्र लक्ष्मी नारायण की ज्वैलर्स की दुकान में काम करता था। जिसकी संदिग्ध गतिविधियों के बारे में जानकारी होने पर मनीष सोनी द्वारा निकाल दिया गया था। इसलिए वह बेरोजगार हो गया था। संजय को मनीष सोनी की सभी गतिविधियों के बारे में जानकारी थी और इसने अपने दोस्त रफत के साथ मिलकर मनीष सोनी का माल रास्ते में लूटने की योजना बनाई और अपने दोस्त जमालुद्दीन पठान उर्फ जमील शेख को पूरी बात बताई। जमालुद्दीन ने भोगनीपुर थाने के कोतवाल अजय पाल कठेरिया व दरोगा चिन्तन कौशिक से अच्छे सम्बन्ध होने का हवाला दिया। दरअसल, अजय पाल कठेरिया पहले झांसी जिले में तैनात थे इसलिये जमालुद्दीन से पूर्व से परिचित थे। जमालुद्दीन ने इंस्पेक्टर अजय पाल कठेरिया के साथ मिलकर इस लूटकांड को अंजाम देने का खाका तैयार किया। पुलिस वालों को घटना में शामिल करते हुए स्कॉर्पियो और कार से अपने साथी ताजुद्दीन उर्फ बहु, राकेश कुमार, जमालुद्दीन, रफत, दरोगा चिन्तन कौशिक व दीवान रामशंकर यादव के साथ मिलकर भोगनीपुर कोतवाल अजय पाल कठेरिया के द्वारा बनाई गई योजना के तहत 6 जून को हम लोगों ने क्रेटा गाड़ी को बुलन्देलखन्ड एक्सप्रेस-वे पर स्कार्पियों से ओवरटेक कर करीब 2 बजे रुकवा कर स्कार्पियों गाड़ी में बैठे दरोगा चिन्तन कौशिक व दीवान रामशंकर थाना भोगनीपुर जनपद कानपुर देहात ने गाड़ी की तलाशी लेते हुए गाड़ी में दो थैलों में रखे चांदी को अपने कब्जे में लेकर चालक जगनन्दन पाल को असलहों के बल पर अपनी गाड़ी में बैठाकर लेकर चल दिये और साई मंदिर के सामने पेट्रोल पम्प पर एक हजार रुपये का तेल भरवाने के बाद वहीं से चिन्तन दरोगा ने अजय पाल कठेरिया इंस्पेक्टर को फोन से बात की कि उनके द्वारा इनको कुछ निर्देश दिये गये। जिस पर हम लोगों ने कुछ दूर ले जाकर के वादी के ड्राइवर जगनन्दन पाल को मारपीट कर उतार दिया और चांदी ले जाकर के भोगनीपुर थाने के इंस्पेक्टर साहब के आवास पर रख दिया गया। माल को दो दिन रखने के बाद इंस्पेक्टर अजय पाल कठेरिया द्वारा बताया गया कि अभी माल का बंटवारा बाद में किया जायेगा। क्योंकि सुनने में आया है कि व्यापारी ने औरैया कोतवाली में रिपोर्ट लिखा दी है। इसलिए इस माल को थाने
हटाकर के चिन्तन कौशिक दरोगा को इन्सपेक्टर साहब ने दे दिया था, ताकि तुम सुरक्षित रखो। मामला शांत होने पर बंटवारा किया जायेगा ।
पेट्रोल भरवाना भारी पड़ गया मुकदमा लिखने के बाद पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी। तलाश के तहत सीसीटीवी भी खंगाले जा रहे थे। इसी दौरान साई मंदिर के पास वाले पेट्रोल पंप पर वही गाड़ी दिखी। जिसे पीड़ित व्यापारी ने भी पहचान लिया। इसके बाद पहचान कराई गई तो पहचान दरोगा के रूप में हुई। सूत्रों की माने पुलिस ने इसमें दो को मुखबिर की सूचना पर उठा लिया। जिनके बताने पर इंस्पेक्टर के सरकारी आवास से चांदी बरामद हो गई।
बांदा के रहने वाले सर्राफ मनीष सोनी उर्फ सागर ने बताया कि 6 जून को वह अपनी क्रेटा कार बांदा से औरेया जा रहे थे। उनके साथ मामा का लड़का रवि सोनी और भाभी सोनाली सोनी और उनकी बेटी अशी थी। वह बुन्देलखंड एक्सप्रेस-वे से जा रहे थे। गाड़ी ड्राइवर जगनन्दन पाल चला रहा था । औरैया जिले में एंट्री करते ही 2:30 से 2:45 बजे के बीच एक सफेद रंग की स्कार्पियो गाड़ी के पास खड़े चार लोगों ने हाथ देकर गाड़ी रुकवा ली। गाड़ी रोकने वालों में दो व्यक्ति सादे कपड़े पहने थे, जबकि एक व्यक्ति दरोगा की वर्दी पहने था और पिस्टल लगाए था। एक सिपाही की वर्दी पहने था। कांस्टेबल के हाथ में कार्बाइन थी । गाडी से सबको नीचे
उतारा फिर बैग अपनी गाड़ी में रख लिए उन लोगों ने ड्राइवर से कहा- अपनी आईडी दिखाओ। फिर नीचे उतारकर खड़ा कर दिया। मेरे भाई रवि और भाभी को भी कार से नीचे उतार दिया। मैं भी गाड़ी से उतरकर खड़ा हो गया। इसके बाद उन लोगों ने गाड़ी की तलाशी ली। गाड़ी में दो बैग रखे हुए थे, जिसमें चांदी के 30 टुकड़े थे। उन्होंने दोनों बैग उठाकर अपनी गाड़ी में रख लिया। ड्राइवर से कहा कि गाड़ी में बैठो तो ड्राइवर उनकी गाड़ी स्कार्पियो में बैठ गया ।
ड्राइवर ने बताया कि स्कार्पियो वहां से चली गई। कुछ दूर आगे आगे बसंत पेट्रोल पंप पर तेल डलवाया। कुछ समय रुकने के बाद ड्राइवर को उतार दिया और गाड़ी औरैया की तरफ गाड़ी चली गई। ड्राइवर को सभी लोगों के मोबाइल वापस कर दिए। इसके बाद मैं गाड़ी लेकर अपने मामा के घर औरैया पहुंचा। कुछ देर बात ही मेरा ड्राइवर जगननन्दन भी मेरे मामा के घर पहुंचा। फिर उसने पूरी कहानी बताई। इसके बाद औरैया कोतवाली में लूट की एफआईआर दर्ज कराई।
अजय पाल सिंह कठेरिया पुत्र रामेश्वर दयाल कठेरिया निवासी नौगवा थाना पटियाली जनपद कासगंज वर्तमान में तैनाती प्रभारी निरीक्षक भोगनीपुर जनपद कानपुर देहात, 2. चिन्तन कौशिक पुत्र देव शंकर शर्मा निवासी इन्द्र कुटीर 219/12 छोटन दरबार के पीछे थाना कोतवाली नगर जनपद बुलंदशहर वर्तमान नियुक्ति थाना भोगनीपुर जनपद कानपुर देहात, 3.मालुद्दीन पठान उर्फ जमील शेख पुत्र पारीदुद्दीन निवासी कम्हरिया थाना मौदाहा जनपद हमीरपुर 4. संजय चिकवा उर्फ संजय टोपी पुत्र शिव मंगल निवासी ग्राम साईचर थाना कोतवाली बांदा जनपद बांदा, 5. फल खान पुत्र नवाब खान निवासी मुठनी थाना विचार जनपद हमीरपुर, 6 राकेश पुत्र रामेश्वर दीक्षित निवासी सायर थाना विचार जनपद हमीरपुर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। गिरफ्तारी करने वाली टीम में एसओजी प्रभारी प्रवीन कुमार मय टीम व कोतवाली औरैया के वरिष्ठ उपनिरीक्षक भागीरथ सिंह है।

Leave a Comment