Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

डीएम औरैया नेहा प्रकाश ने खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की समीक्षा बैठक में दिए,, जारी किए ये निर्देश

DM Auraiya Neha Prakash gave these instructions in the review meeting of Food Safety and Drug Administration

आमजन को शुद्ध और स्वास्थ्य के लिए लाभकारी खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराने हेतु समय-समय पर खाद्य पदार्थों की चैकिंग करते रहें _ जिलाधिकारी

नमूने मानक के अनुरूप न हो उससे संबंधित संस्थान के विरुद्ध कठोर कार्यवाही सुनिश्चित करने के दिए निर्देश

(ब्यूरो रिपोर्ट )

Auraiya news today । आमजन को शुद्ध और स्वास्थ्य के लिए लाभकारी खाद्य पदार्थ उपलब्ध हो इसके लिए संबंधित विभाग समय-समय पर खाद्य पदार्थों की चैकिंग करते रहें और जो भी नमूने मानक के अनुरूप न हो उससे संबंधित संस्थान के विरुद्ध कठोर कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। जिलाधिकारी नेहा प्रकाश ने उपरोक्त निर्देश खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की जिला स्तरीय समीक्षा बैठक में सभी संबंधितों को दिये। उन्होंने कहा कि आमजन का स्वस्थ्य रहना बहुत ही आवश्यक है इसके लिए खाद पदार्थों में किसी प्रकार की कोई मिलावट नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य से किसी को खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा और समय-समय पर किए जाने वाले निरीक्षण में जो भी मानक के विपरीत खाद्य पदार्थ की बिक्री करते पाया जाएगा उसको शासन द्वारा दिए गए प्रावधानों के अनुरूप दंडित किया जाएगा। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी संबंधित विभाग यह सुनिश्चित करें कि उनके विभाग से संबंधित प्रतिष्ठानों का नवीनीकरण पूर्ण हुआ अथवा नहीं और यदि कोई भी प्रतिष्ठान/ दुकान का नवीनीकरण अभी शेष है तो संबंधित अधिकारी उसका पंजीकरण/ नवीनीकरण तत्काल कराये। उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी संबंधित आपसी समन्वय बनाकर कार्य करें ताकि किसी भी स्तर पर कोई कार्य छूटने न पाये और समय से कार्यवाही सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि शीत ग्रह, मेडिकल स्टोर, राशन डीलर, ढाबा, रेस्टोरेंट, डेयरी तथा अन्य दुकानों को भी पंजीकृत किया जाये । निरीक्षण में नगरीय प्रतिष्ठानों के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित दुकानों/ प्रतिष्ठान का भी समय समय पर निरीक्षण किया जाए ताकि राजस्व वसूली भी सुनिश्चित हो सके। जिलाधिकारी ने इस दौरान खाद्य सुरक्षा अधिकारी स्वतंत्र कुमार सिंह को निर्देश दिए कि अपने स्तर से क्षेत्रवार अधिकारियों को लक्ष्य निर्धारित करते हुए उनकी समीक्षा करें और आगामी बैठक में प्रगति से अवगत कराये। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा लक्ष्य प्राप्त में शिथिलता/ लापरवाही बरती जाएगी उसके विरुद्ध कार्यवाही सुनिश्चित होगी। उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि वह विद्यालयों/ स्कूलों में कार्यक्रम निर्धारित कर खाद्य पदार्थों में मिलावट की पहचान कैसे की जा सकती है इस संबंध में जांच कर जागरूक करें ।जिससे आमजन प्राथमिक स्तर पर खाद्य पदार्थों में मिलावट की जांच कर सके। बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व महेंद्र पाल सिंह, खाद्य सुरक्षा अधिकारी स्वतंत्र कुमार सिंह सहित संबंधित अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

Leave a Comment