Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

जालौन सीएचसी की इमरजेंसी में तैनात डॉक्टरों से की तीमारदारों ने अभद्रता,,

The attendants misbehaved with the doctors deployed in the emergency of Jalaun CHC.

(रिपोर्ट – बबलू सेंगर)

Jalaun news today । जालौन नगर में स्थित सीएचसी में इमर्जेंसी ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर के साथ मरीज के रिश्तेदार ने गाली, गलौज करते हुए अभद्रता कर दी। घटना के तुरंत बाद पुलिस को सूचना देने के बाद भी लगभग बीस मिनट बाद पुलिस मौके पर पहुंची। तब तक मरीज का रिश्तेदार मौके से भाग निकला। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
हमारे स्थानीय सहयोगी से मिली जानकारी के अनुसार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रविवार को अवकाश होने के चलते इमर्जेंसी में डॉ. योगेश आर्या की ड्यूटी थी। दोपहर में एक महिला मरीज विमला देवी पत्नी शिवकांत निवासी जखा थाना सिरसाकलार पहुंची। वह अपने परिजनों के साथ बाइक से बुखार का इलाज कराने के लिए सीएचसी आ रही थीं। रास्ते में वह बाइक से गिर भी गई थीं। अस्पताल आने पर डॉक्टर ने उन्हें एडमिट कर लिया और उनका उपचार शुरू हो गया। इसी दौरान नगर के ही उनके एक रिश्तेदार भी अस्पताल पहुंच गए और वार्ड में गाली, गलौज करने लगे। डॉक्टर योगेश आर्या ने बताया कि जब उन्होंने महिला मरीज के रिश्तेदार को बताया कि अस्पताल है इलाज चल रहा है अनावश्यक गाली, गलौज न करें। यह सुनते ही शराब के नशे में उसने उनके साथ भी गाली, गलौज करते अभद्रता कर दी। इसकी जानकारी उन्होंने तत्काल कोतवाली पुलिस को दी। लेकिन घटना के लगभग बीस मिनट बाद कोबरा के दो सिपाही मौके पर पहुंचे। तब तक मरीज का आरोपी रिश्तेदार मौके से भाग चुका था। जानकारी मिलने पर कोतवाल विमलेश कुमार भी मौके पर पहुंच गए और डॉक्टर से घटना के संदर्भ में जानकारी ली। इस बाबत सीएचसी प्रभारी डॉक्टर केडी गुप्ता ने बताया कि घटना को लेकर कोतवाली में तहरीर दी जा रही है। वहीं, कोतवाल विमलेश कुमार ने बताया कि डॉक्टर के साथ अभद्रता करने वाले रिश्तेदार को बुलाया जा रहा है। अभी तहरीर नहीं मिली है, जो उचित होगा कार्रवाई की जाएगी।

पहले भी सामने आ चुके हैं ऐसे प्रकरण

Jalaun । सीएचसी में डॉक्टर के साथ अभद्रता का यह पहला प्रकरण नहीं है। इससे पूर्व बीती 13 जून की सुबह करीब साढ़े पांच बजे गर्भवती महिला के परिजनों ने महिला चिकित्सक को उनके आवास का दरवाजा खोलने में देरी होने पर महिला चिकित्सक के आवास पर न सिर्फ लात घूंसे मारे थे बल्कि पत्थरबाजी भी की थी। जिसमें उनके आवास की खिड़कियां टूट गई थीं। घटना की रिपोर्ट भी कोतवाली में दर्ज की गई थी। घटना के बाद चिकित्सा अधीक्षक केडी गुप्ता व डॉक्टरों की मांग पर सीओ रविंद्र गौतम ने अस्पताल में दो पुलिस कर्मियों को अस्पताल परिसर में तैनात करने एवं कोबरा टीम को समय समय पर अस्पताल परिसर में गश्त करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद भी रविवार को डॉक्टर के साथ हुई गाली, गलौज व अभद्रता के समय कोई पुलिसकर्मी अस्पताल में मौजूद नहीं था।

Leave a Comment