Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

डीएम जालौन ने की वर्चुअल समीक्षा बैठक,, जारी किए ये निर्देश

DM Jalaun held a virtual review meeting, issued these instructions

आवारा गौवंश सड़कों पर घूमते न मिले यह सुनिश्चित करेंःजिलाधिकारी

(ब्यूरो रिपोर्ट)

Orai / jalaun news today ।जालौन जनपद के जिलाधिकारी राजेश कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में बीती देर शाम वचुर्अल जिला स्तरीय मूल्यांकन अनुश्रवण एवं समीक्षा समिति की बैठक कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने समस्त खण्ड विकास अधिकारियों तथा पशु चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिए गए कि 28 अक्टूबर 2023 को भरण पोषण संबंधी डिमाण्ड पोर्टल पर अपलोड कर दी जाए व हर माह की 5 तारीख तक डिमाण्ड पोर्टल पर अपलोड करने के कड़े निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने समस्त खण्ड विकास अधिकारियों तथा अधिशाषी अधिकारियों को कहा कि किसी भी दशा में सड़क पर अन्ना गौवंश नहीं घूमना चाहिए यह आप लोग सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सड़कों एवं खेतों पर घूम रहे निराश्रित गौवंशों को प्राथमिकता पर पकड़कर नजदीकी गौआश्रय स्थलों में संरक्षित किया जाय तथा आवश्यकता पड़ने पर नए आस्थई गौआश्रय स्थल खोले जाए। उन्होंने गौ संरक्षण अभियान के संबंध में अधिशाषी अधिकारियों व खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि प्रतिदिन पकड़े जा रहे निराश्रित गौवंशों को जिस गौशाला में संरक्षित करवाया जा रहा है उनका अंकन गौवंश रजिस्टर पर अंकित होना चाहिए तथा नगरीय क्षेत्रों में प्रतिदिन अभियान चलाकर निराश्रित गौवंशों को गौशालाओं में संरक्षित करवाया जाय, यह भी निर्देश दिए गए कि प्रत्येक विकास खण्ड में 500 गौवंश प्रतिदिन तथा नगरीय क्षेत्र में प्रत्येक नगर पालिका परिषद व नगर पंचायत में 100 गौवंश संरक्षित करवाये जाए। उन्होंने कहा कि समस्त उप जिलाधिकारी समस्त खण्ड विकास अधिकारियों तथा मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि उपलब्ध गोचर भूमि पर तत्काल निराश्रित गौवंशों के भरण पोषण के लिए हरा चारा, नैपियर घास उत्पादन किया जाय, तथा चारागाह के आस पास पेड़ एवं तार फेंसिंग करवाकर रोपित घास की सुरक्षा की जाय। उन्होंने समस्त खण्ड विकास अधिकारियों एवं पशुचिकित्साधिकारियों को निर्देश दिये कि पशुपालको को जो गौवंश 1380 गौवंश सुपुदर्गी में दिए गए है उनका सत्यापन करवाया जाय एवं निर्धारित लक्ष्य 350 गौवंश प्रति विकास खण्ड सुपुदर्गी का तत्काल पूर्ण करवाया जाय, इस कार्य में किसी भी प्रकार शिथिलता बर्दाश्त नही की जाएगी। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि तहसील स्तरीय एवं विकास खण्ड स्तरीय अनुश्रवण मूल्याकन एवं समीक्षा बैठक समिति की जो कराई गई हों उनकी कायर्कृत्त उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत को निर्देश दिये कि अभियान चलाकर कम से कम 100 गौवंश को कांजी हाउसों में संरक्षित कराये जाये। बचुर्अली बैठक में मुख्य विकास अधिकारी भीमजी उपाध्याय, अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे विशाल यादव सहित आदि संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer