Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

Jalaun news : पूर्व ब्लाक प्रमुख ने किया शहीद प्रकाश चौहान की प्रतिमा का अनावरण

Jalaun news: Former block chief unveiled the statue of martyr Prakash Chauhan

अपनी विभागीय जिम्मेदारियों के निर्वहन के दौरान शहीद हुए थे सिपाही प्रकाश

(ब्यूरो रिपोर्ट)

Orai / jalaun news today । आज ही के दिन 5 नवंबर को पुलिस महकमें में बतौर सिपाही अपनी जिम्मेदारियां का निर्वहन कर शहीद होने वाले प्रकाश चौहान कांस्टेबल को रविवार के दिन उनके पैतृक गांव लौना में उनके पारिवारिक जनों और ग्रामीणों ने पुण्यतिथि आयोजित कर उन्हें याद किया। इस दौरान उनकी एक आदमकद प्रतिमा का अनावरण भी किया गया जिसे पूर्व ब्लॉक प्रमुख रामपुरा चंद्रशेखर दोहरे और पूर्व ग्राम प्रधान शिव सिंह ने संयुक्त रूप से किया इस मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण जन वहां मौजूद रहे।
बताते चलें कि प्रकाश चौहान 2013 और 14 में पुलिस विभाग में सिपाही के तौर पर भर्ती हुए थे। बताया जाता है कि प्रकाश चौहान बड़े ही दिलेर और कर्तव्य परायण सिपाही के तौर पर अपनी विभागीय जिम्मेदारियों का निवर्हन करते हुए शहीद हो गए थे। उनके सीधे सरल और जुझारू व्यक्तित्व के चलते हुए अपने गांव में और अपने विभागीय लोगों के दिलों में विशेष पहचान रखते थे। प्रकाश चौहान के प्रति ग्रामीणों की श्रद्धा और प्रेम इस कदर रहा कि उनकी प्रथम पुण्यतिथि पर आज रविवार को परिवारी जनों और अन्य ग्रामीण जनों ने मिलकर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए इस दौरान उनकी एक आदमकद प्रतिमा का अनावरण भी पूर्व ब्लाक प्रमुख रामपुरा चंद्रशेखर दोहरे और पूर्व ग्राम प्रधान लौना शिव सिंह ने संयुक्त रूप से किया गया। प्रकाश चौहान अपने पीछे अपनी पत्नी कुमकुम और बेटी तृप्ति 8 वर्ष को पीछे छोड़ गए हैं। उनके पिता हरिराम विद्युत विभाग में लाइनमैन रहे। इस अवसर पर महेंद्र कुमार श्रीकेश पंकज चौहान पत्रकार अभिषेक संदीप कुमार राजपाल रजनीकांत नीलू तृप्ति आरव एंजेल राजू कुमार आदि बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। देर शाम तक चले कायर्क्रम में क्षेत्रीय ग्रामीण लोगों ने भी शहीद प्रकाश चौहान को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

लाड़ले प्रकाश की याद करके भर आई लोगों की आंखें

कांस्टेबल शहीद प्रकाश चौहान की प्रथम पुण्यतिथि पर जैसे ही आज उनकी प्रतिमा का अनावरण किया गया वैसे ही वहां पर बड़ा ही भावनात्मक माहौल देखने को मिला जब ग्रामीणों और पारिवारिक जनों की आंखें नम हो गई और उन्होंने अपने लाड़ले को याद करते हुए उसकी शहादत को नमन किया पारिवारिक जनों में छोटे बच्चों में भी प्रकाश चौहान की पुण्यतिथि पर एक अलग ही तरह का माहौल दिखाई दिया। बच्चे उनकी प्रतिमा को देखकर भाव विभोर हो गए देर शाम तक लोगों ने उन्हें अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

Contact for advertisement : 9415795867

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer