Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

जालौन में नवजात कन्याओं के माता-पिता को बधाई पत्र देकर किया सम्मानित,,,मुख्य अतिथि ने कही यह बात

In Jalaun, parents of newborn girls were honored with congratulatory letters, chief guest said this

बेटियां सृष्टि की सृजन हार है, इन्हें गर्भ में मत मारिएःसीडीओ

(ब्यूरो रिपोर्ट)

Orai / jalaun news today । उत्तर प्रदेश के जालौन जनपद में मिशन शक्ति फेज 4 के तहत महिला कल्याण विभाग द्वारा जिलाधिकारी राजेश कुमार पाण्डेय के निर्देश पर जिला महिला चिकित्सालय में जन्मी 19 नवजात कन्याओं का हर्षोल्लास के साथ मनाया गया कन्या जन्मोत्सव।इस अवसर पर मुख्य अतिथि मुख्य विकास अधिकारी भीमजी उपाध्याय ने 19 नवजात कन्याओं के माता-पिता को कन्या बधाई पत्र, बेबी किट, मिठाइयां व फल देकर सम्मानित किया।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी भीमजी उपाध्याय ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बेटियों का जन्म अब परिवार के लिए मंगलकारी है बेटियां परिवार का नाम रोशन कर रही हैं इन्हें संरक्षित कर तथा उपयुक्त माहौल देकर उनकी उड़ान को सफल बनाने में सहयोग प्रदान करें। बेटियां सृष्टि की सृजन हार है, इन्हें गर्भ में मत मारिए इन्हें जन्मने का अवसर दीजिए तथा जन्म लेने पर हर्षोल्लास मनाए ताकि समाज में बेटियों के प्रति एक सकारात्मक माहौल का सृजन किया जा सके। जिला प्रोबेशन अधिकारी डॉ अमरेंद्र कुमार पौत्स्यायन ने कहा कि बेटियां अब समाज की दिशा और दशा बदलने में सक्षम है बेटियों का सम्मान करें ताकि महिला सशक्तिकरण का नारा मूर्त रूप ले सके ।आज बेटियां हर क्षेत्र में परिवार समाज व राष्ट्र का नाम रोशन कर रही है इन्हें अवसर देकर देखें आपके कुल का नाम रोशन कर देंगीं। बेटियों को शिक्षित करें ताकि एक सुसंस्कृत समाज की संरचना में महित्ती भूमिका बेटियां अदा कर सके। जिन दंपतियों को मुख्य विकास अधिकारी भीमजी उपाध्याय के हाथों सम्मानित किया गया उनमें गुलशन पत्नी कादिर, राधा पत्नी पवन रगोली, सोनम पत्नी मनीष राजेंद्र नगर, नेहा पत्नी शिवेंद्र, नगमा पत्नी वफाती मालती पत्नी सुशील कुमार, खुशबू पत्नी महफूज, रेनू पत्नी अनिल, खुशबू पत्नी ताज, कंचन पत्नी कृष्ण, जूही पत्नी मनीष, वर्षा पत्नी संदीप वंदना पत्नी कल्लू सीमा पत्नी गोविंद शबनम पत्नी सनी कुमार आंचल पत्नी उपेंद्र व सलमा पत्नी आशिक को सम्मानित किया गया। आज के कायर्क्रम के बारे में बताती हुई लाभार्थी कंचन व वर्षा ने कहा की बेटियां हमारे न सिर्फ जीवन की आधार है बल्कि बेटियों को हर वह अवसर उपलब्ध कराएंगे जो हम अपने बेटों को उपलब्ध कराते हैं। गुलशन ने कहा की सरकार इस तरह का आयोजन कर बेटियों के मां-बाप को वह गौरव प्रदान कर रही है जिसकी चर्चा घर और परिवार में होने लगी है। बेटियों के प्रति एक सकारात्मक माहौल का सृजन करने में ऐसे आयोजन की महित्ती भूमिका है। आज के कायर्क्रम में महिला चिकित्सालय की मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका डॉक्टर सुनीता बनौधा हब फार एंपावरमेंट ऑफ वूमेन की जिला मिशन कोऑडिर्नेटर अलकमा अख्तर, जेंडर स्पेशलिस्ट नीतू, वन स्टॉप सेंटर की केंद्र प्रबंधक अंजना, मनो सामाजिक परामशर्दाता रागनी, सामाजिक कार्यकर्ता रिचा द्विवेदी, प्रवीणा स्टाफ नसर् ज्योति, बाल संरक्षण सेवाओं से रचना कुशवाहा वीर सिंह, सुरेश तथा बाल कल्याण समिति की सदस्या गरिमा पाठक सामाजिक कायर्कतार् अवध नारायण द्विवेदी तथा चिकित्सालय परिवार की समस्त नसर् व डाक्टर उपस्थित रहे।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer