Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

जालौन जनपद में आयोजित हुआ मीलेट्स रेसिपी विकास, उपभोक्ता जागरूकता कार्यक्रम,, जिला पंचायत अध्यक्ष ने कही यह बात

Millets recipe development and consumer awareness program organized in Jalaun district, District Panchayat President said this

मोटे अनाजों के बने खाद्य पदार्थों के स्टाॅलों का किया अवलोकन

हमारी भारतीय परंपरा पहले से ही मोटे अनाज की थीःघनश्याम अनुरागी

Orai / jalaun news today । यूपी के जालौन जनपद में गुरुवार को उप्र मिलेट्स पुनरुद्धार कायर्क्रम योजना अंतर्गत वर्ष-2023-24 मिलेट्स रेसीपी विकास एवं उपभोक्ता जागरूकता कायर्क्रम का जिला पंचायत अध्यक्ष डा. घनश्याम अनुरागी, विधायक सदर गौरी शंकर वर्मा, विधान परिषद सदस्य रमा निरंजन, जिलाधिकारी राजेश कुमार पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक ईरज राजा, मुख्य विकास अधिकारी भीमजी उपाध्याय ने राजकीय मेडीकल कालेज के औडीटोरियम में फीता काटकर व दीप प्रज्जवलित कर शुभारम्भ किया। मोटे अनाज से बने खाद्य पदार्थों के आकर्षक स्टाॅल का जनप्रतिनिधि व अधिकारियों ने अवलोकन किया, साथ ही जनप्रतिनिधियों ने मोटे अनाज खाद्य खाद्य को चखकर स्वाद लिया। खाद्य कारोबारियों से मिलेट्स के उत्पादकों के बारे में जानकारी की।


इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष डा. घनश्याम अनुरागी ने कहा कि पहले के लोग मोटे अनाजों का सेवन करके निरोगी रहते थे, मगर आज की पीढ़ी मोटे अनाजों से दूर होती जा रही हैं इसी वजह से अधिकतर लोग विभिन्न बीमारियों से ग्रसित होने लगे हैं। उन्होंने कहा कि हमें फिर से मोटे अनाज की तरफ लौटना होगा। उन्होंने कहा कि हमारी भारतीय परंपरा पहले से ही मोटे अनाज की थी, अनाज के प्रति लोगों का स्वास्थ्य अच्छा था। विधायक सदर गौरीशंकर वर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री देशवासियों को मोटे अनाज का सेवन करने के लिये प्रेरित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीमारियों से बचने के लिये मोटे अनाज का सेवन जरूरी हो गया हैं। मोटे अनाज के सेवन के लिये केन्द्र व उप्र की सरकार आमजनमानस को जागरूक करने का प्रयास कर रही हैं। उन्होंनेे कहा कि अब हमारी थाली में पोषक तत्व नहीं रहते है, आज हमें मोटे अनाज की जरूरत हैं।

उन्होंने कहा कि मोटे अनाज से लोगो को भरपूर पोषण मिलता है और बीमारी से भी दूर रहते हैं। उन्होंने जनपदवासियों से आहवान किया कि ज्वार, बाजरा, रागी, मक्का आदि का सेवन करें। विधान परिषद सदस्य रमा निरंजन ने कहा कि शरीर को स्वस्थ्य एवं निरोगी रखने के लिये पोषक अनाज काफी महत्वपूर्ण हैं। पोषक अनाज पोषण से भरपूर होने के कारण रोगों से बचाव करता हैं। पोषण अनाज में ज्वार, बाजरा, रागी, सावां इत्यादि मानव स्वास्थ्य के लिये लाभदायक हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा अन्तरार्ष्ट्रीय मिलेट्स वर्ष मनाया जा रहा है। उन्होंने पोषक अनाजों के प्रति आमजन को प्रेरित किया।

जिलाधिकारी राजेश कुमार पाण्डेय ने कहा कि यह वर्ष अतरार्ष्ट्रीय मिलेट्स वर्ष के रूप में मनाया जा रहा हैं। उन्होंने आहवान किया कि श्री अन्न ज्वार, बाजरा, रागी, कोन्दो, सावां कुट्टू, कंगनी, चेना आदि के व्यंजन बनवायें और उसके स्वाद को लेने के साथ-साथ आने वाले महमानों को उससे परिचित कराये। उन्होंने कहा कि श्री अन्न की मांग बढ़ने पर किसानों को भी उसको उगाना पड़ेगा, जो कम लागत एवं पानी के साथ-साथ अधिक तापमान पर कम उपजाऊ जमीन पर भी उगाये जा सकते हैं। इस प्रकार यह जन आंदोलन जनसामान्य के स्वास्थ्य को बढ़ाने के साथ-साथ किसानों की आय बढ़ाने में भी सहायक होगा। उन्होंने कहा कि फास्ट फूड के स्थान पर सुपर फूड को भोजन में शामिल कर अपने शरीर को निरोगी रखे। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के किसान मोचार् अध्यक्ष सूर्य नायक, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किसान यूनियन बलराम लम्बरदार, महासचिव किसान यूनियन राजवीर सिंह जादौन ने भी मोटे अन्न पर विस्तार पूर्वक अवगत कराया। कायर्क्रम में अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं रा.) संजय कुमार, अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे विशाल यादव, परियोजना निदेशक शिवाकांत द्विवेदी, उप कृषि निदेशक एसके उत्तम, डीसी एनआरएलएम दिनेश यादव, कृषि अधिकारी गौरव यादव आदि मौजूद रहे।

Follow us on Facebook : uttam pukar news

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer