Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने किया भाजपा सरकार पर प्रहार,, कही यह बात

SP President Akhilesh Yadav attacked the BJP government, said this

UP news today। समाजवादी पार्टी ( Samajwadi party ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने रविवार को भाजपा सरकार पर करारा प्रहार किया है। उन्होने कहा है कि यह कैसी विडम्बना है कि भाजपा सरकार एक ओर तो करोड़ो खर्च कर भव्य दीपावली का रिकार्ड बनाने में लग गई वहीं इकोगार्डेन में अपनी मांगों को लेकर बैठी डायल 112 की कर्मचारी लड़कियों को ठंड में मरने को मजबूर करने की निर्दयता बरत रही है। भव्य और दिव्य दीपावली के दावों के बीच गरीब दीयो से तेल ले जाने को मजबूर दिखे तो दिव्यता के बीच दरिद्रता के इस शर्मनाक दृश्य को लोकतंत्र के माथे पर कलंक का टीका मानने के अलावा क्या कहा जा सकता है?
श्री यादव ने कहा कि भाजपा की राज्य सरकार ने दीपावली पर 200 अतिरिक्त बसे चलाने के भी हवाई दावे जनता को राहत के नाम पर किए लेकिन हकीकत में खुद मुख्यमंत्री जी के गृह जनपद गोरखपुर के बस अड्डों पर रोडवेज बसों की कमी से यात्री परेशान हुए। दीपावली के त्योहार पर घर जाने वालों के साथ यह कैसा मजाक है?
उन्होने कहा कि भाजपा ने जनता को ठगने के अलावा और कुछ नहीं दिया है। भाजपा सरकार पूंजीपतियों की सरकार है। जनता महंगाई की मार से त्रस्त है। बाजार में सब कुछ महंगा है, सस्ता कुछ भी नहीं। तमाम सरकारी विभागों में समय से वेतन भी नहीं बंटा। संविदाकर्मी तो बुरी तरह उत्पीड़न के शिकार हैं। उन्हें बोनस तो क्या समय से पगार भी नहीं मिल पायी है। डायल 112 की कर्मचारी लड़किया पुलिस ज्यादती की शिकार है। वे दीप पर्व पर भी घर नहीं गई है। भाजपा नारी शक्ति के धैर्य की परीक्षा न ले। ये देश गवाह है कि नारी के आंसू बड़ी से बड़ी सत्ता को बहा देते है। इस दीप पर्व पर किसान की बदहाली पर किसी की नज़र नहीं। भाजपा ने आय दुगनी नहीं की। गन्ना किसानों का बकाया भुगतान नहीं किया। नौजवानों को नौकरी और रोजगार के नाम पर छला गया। उनका भविष्य अंधकारमय है। अब जनता जाग गई है और भाजपा के झूठे बहकावे में आने वाली नहीं है। केवल जनता ही नहीं इस बार तो भाजपाई भी भाजपा को हटाएंगे। जब भाजपाई ही आंसू बहा बहाकर भाजपा के भ्रष्ट शासन की सच्चाई बयान कर रहे है तो और किसी सबूत की जरूरत ही क्या है?
श्री यादव ने कहा कि समाजवादियों की कथनी और करनी में भी अंतर नहीं रहा। समाजवादी सरकार में विकास के जो काम हुए उससे जनता में खुशहाली आई। समाजवादी यही चाहते है कि एक ऐसा पर्व भी आए जिसमें सिर्फ घाट नहीं हर गरीब का घर भी जगमगाए।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer