Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

जालौन में पूर्ति निरीक्षक गिरफ्तार,, यह है आरोप,,

Jalaun news today । जालौन में फर्जी आधार कार्ड लगाकर सरकारी खाद्यान्न विक्रेताओं द्वारा खाद्यान्न में हेराफेरी किए जाने का मामले में जिलाधिकारी के निर्देश पर वर्ष 2018 में नगर के 11 कोटेदारों सहित 3 संविदा कर्मचारियों के खिलाफ कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच द्वारा की जा रही थी। जांच में घोटाले के तार तत्कालीन पूर्ति निरीक्षक कमलसिंह कुशवाहा से भी जुड़े हुए पाए गए। जिसके बाद क्राइम ब्रांच व कोतवाली पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में तत्कालीन पूर्ति निरीक्षक को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया।
वर्ष 2018 में शासन स्तर से गठित एक टीम की जांच में खुलासा हुआ नगर के कुछ सरकारी खाद्यान्न विक्रेताओं द्वारा पूर्ति कार्यालय में तैनात संविदा कर्मचारियों की मिली भगत से ई पॉस मशीनों के माध्यम से फर्जी आधार कार्ड लगाकर सरकारी खाद्यान्न एवं केरोसीन के वितरण में घपलेबाजी की जा रही थी। सरकारी खाद्यान्न एवं केरोसीन के वितरण में की जा रही गड़बड़ी के मामले का संज्ञान लेते हुए तत्कालीन डीएम डॉ. मन्नान अख्तर ने खाद्यान्न एवं केरोसीन के वितरण में गड़बड़ी करने वाले कोटेदारों एवं तत्समय पूर्ति कार्यालय में तैनात संविदा कर्मचारियों के खिलाफ तत्कालीन पूर्ति निरीक्षक अजीत कुमार को कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत कराने के निर्देश दिए थे। डीएम के निर्देश पर तत्कालीन पूर्ति निरीक्षक ने नगर के 11 कोटेदारों समेत तत्समय कार्यालय में तैनात तीन संविदा कर्मचारियों के खिलाफ कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज की गई थी। मामले की जांच क्राइम ब्रांच की टीम कर रही थी। क्राइम ब्रांच की जांच में खुलासा हुआ कि घोटालों को अंजाम देने के लिए तत्कालीन पूर्ति निरीक्षक कमल सिंह कुशवाहा (वर्तमान में पूर्ति कार्यालय माधौगढ़ में तैनात) की आईडी और पासवर्ड का इस्तेमाल किया गया था। जिसके बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने उन्हें भी मामले में आरोपी बनाया गया। आरोपी बनाए जाने के बाद क्राइम ब्रांच प्रभारी निगवें्रद सिंह को सूचना मिली कि मामले में आरोपी कमल सिंह कुशवाहा औरैया रोड पर स्थित एक चाय की दुकान पर मौजूद हैं। सूचना मिलते ही क्राइंच ब्रांच की टीम व कोतवाली पुलिस की टीम ने आरोपी पूर्ति निरीक्षक कमल सिंह कुशवाहा को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया है। इस बाबत क्राइम ब्रांच प्रभारी ने बताया कि खाद्यान्न घोटाले में तत्कालीन पूर्ति निरीक्षक कमल सिंह कुशवाहा की भी संलिप्ता पाई गई थी। जिसके बाद उन्हें भी घोटाले में आरोपी बनाया गया था। उन्हें गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया है।

जालौन क्षेत्र की खबरों व विज्ञापन के लिए सम्पर्क : बबलू सेंगर महिया : 9648411717

Leave a Comment