Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

रामकथा सुनने के लिए दूर दूर से आ रहे भक्त,,जालौन के इस गांव में हो रहा आयोजन

Jalaun news today ।जालौन ब्लॉक क्षेत्र के ग्राम उदोतपुरा में लक्ष्मनजू के मंदिर परिसर में रामकथा का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें काफी संख्या में भक्त रामकथा का सुनने के लिए पहुंच रहे हैं।
रामकथा के पांचवें दिन कथा वाचक पंडित संजय पांडेय ने भगवान श्रीराम व सीता माता के वनवास के दौरान कुटिया में रहने का उदाहरण देते हुए बताया कि एक महल की अपेक्षा एक कुटिया में जीवन यापन कई गुना शांतिपूर्ण होता है। उन्होंने बताया कि जीवन की मोहमाया के जंजाल से कुटिया में जीवन कई गुना सुंदर होता है जैसे श्रीराम ने अयोध्या के ऐश्वर्य पूर्ण जीवन को त्यागकर वन में वास किया वो भी एक कुटिया में। उन्होंने बताया कि भगवान से सच्चे मन से अपराधों के प्रति क्षमा मांगे तो क्षमा मिल सकती है। वहीं, साधु संतों के प्रति किए गए दुर्व्यवहार की कभी क्षमा नहीं मिलती है। दुनिया जितना हमे अच्छा समझती है उतने अच्छे हम होते नहीं है। सूर्पणखा का प्रसंग देते हुए बताया कि जहां पर भक्ति होती है वहां पर वासना का वास नहीं होता है। उन्होंने संसार में भक्ति को ही सर्वाेपरी बताया। इस मौके पर पारीक्षित नैपाल सिंह राजावत, रामश्री देवी, धीरज सिंह तोमर, प्रताप सिंह राजा, देवेंद्र तोमर, रनधीर सिंह, श्याम सुंदर रजपाल सिंह, जमींपाल सिंह, बाबूजी चौहान, जानकीघ् देवी, सुधा देवी, अंजली, छुटकी, हेमलता, सोनम, सुखमती देवी आदि मौजूद रहे।

Leave a Comment