Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

भागवत कथा में भागवताचार्य ने सुनाई ये सुंदर कथा,,,

Bhagwatcharya narrated this beautiful story in Bhagwat Katha,

( रिपोर्ट – बबलू सेंगर)

Jalaun news today । प्रत्येक व्यक्ति के लिए राष्ट्र सर्वोपरि होना चाहिए। हिंदू परिवार कम से कम तीन बच्चे पैदा करे जिनमें से एक बच्चा राष्ट्र की सेवा में समर्पित करें। यह बात स्वामी विवेकानंद इंटर कॉलेज में आयोजित भागवत कथा सप्ताह में कथा व्यास महामंडलेश्वर ज्योतिर्मयानंद गिरीजी महाराज ने कही।
अखंड परमधाम सेवा समिति के तत्वावधान में स्वामी विवेकानंद इंटर कॉलेज में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा सप्ताह के तीसरे दिन कथा व्यास महामंडलेश्वर साधु ज्योतिर्मयानंद गिरीजी महाराज ने कहा सभी हितों को छोडकर जब राष्ट्र की बारी आए तो प्रत्येक व्यक्ति के हृदय में राष्ट्र सर्वोपरि होना चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि आप एक से अधिक बच्चे पैदा करें। यदि एक बच्चा आपकी सेवा करेगा तो दूसरे को देश की सेवा के लिए समर्पित करना चाहिए। जीवन में सत्संग व शास्त्रों में बताए आदर्शों का श्रवण करने का आह्वान करते हुए कहा कि सत्संग में वह शक्ति है, जो व्यक्ति के जीवन को बदल देती है। कहा कि मनुष्य को अपने जीवन में क्रोध, लोभ, मोह, हिंसा, संग्रह आदि का त्यागकर विवेक के साथ श्रेष्ठ कर्म करने चाहिए। भागवत कथा के दौरान कपिल चरित्र, सती चरित्र, धु्रव चरित्र, जड़ भरत चरित्र, नृसिंह अवतार आदि प्रसंगों पर प्रवचन करते हुए कहा कि भगवान के नाम मात्र से ही व्यक्ति भवसागर से पार उतर जाता है।

मनुष्य जीवन में जाने अनजाने प्रतिदिन कई पाप होते है। उनका ईश्वर के समक्ष प्रायश्चित करना ही एक मात्र मुक्ति पाने का उपाय है। उन्होंने ईश्वर आराधना के साथ अच्छे कर्म करने का आह्वान किया। इस मौके पर स्वामी दयानंद गिरीजी महाराज, पारीक्षित महेंद्र सिंह उर्फ मनसुख दादी, उर्मिला सिंह, रामराजा निरंजन, धर्मेंद्र मिश्रा, अनिल शिवहरे, शिवराम सिंह गुर्जर, माधव व्यास, मंगल सिंह पटेल, मनोज गुप्ता, निशा माहेश्वरी, संध्या, प्रियंका, रागिनी, वर्षा, कृष्णा आदि मौजूद रहे।

Contact for advertisement ; 9415795867

Leave a Comment