Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

पूर्व आईएएस अधिकारी की पत्नी की हत्या का खुलासा: आरोपियों ने पैर छुए और गला दबाकर कर दी थी हत्या

पूर्व आईएएस अधिकारी की पत्नी की हत्या का खुलासा: आरोपियों ने पैर छुए और गला दबाकर कर दी थी हत्या

Like & subscribe & share & comment

Subscribe our channel on YouTube : up news sirf sach

Lucknow news today ।उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बीते तीन दिनों पूर्व हुए रिटायर्ड आईएएस rtd IAS ) अधिकारी की पत्नी की हत्या का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने तीन आरोपियों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार करने का दावा किया है। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए अभियुक्तों में रिटायर्ड आईएएस का वह चालक भी शामिल है जिसने अपने भाई और एक अन्य के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था । पुलिस का कहना है कि पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर माल भी बरामद किया गया है।

यह हुई थी घटना

यूपी की राजधानी लखनऊ में बीते तीन दिन पूर्व गाजीपुर थाना क्षेत्र में रहने वाले rtd आईएएस अधिकारी डी एन दुबे की पत्नी मोहिनी दुबे की उस समय हत्या कर दी गई थी जब पूर्व आईएएस अधिकारी गोल्फ क्लब गए थे। और जब वह वहाँ से लौटे तब इस दुसहसिक वारदात का पता चला था। राजधानी लखनऊ में सुबह सुबह हुई इस घटना की जानकारी जब लोगों को हुई तो पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया था। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब छानबीन की तब पता चला कि बदमाश घर में लगे सीसीटीवी का dvr भी ले गए थे। पुलिस ने इस घटना के लिखुलासे के लिए कड़ी मशक्कत की और आज उसे इस घटना के खुलासे में सफलता प्राप्त हुई।

चालक ने भाई व एक अन्य साथी के साथ मिलकर की थी घटना

आईएएस की पत्नी कि हत्या की घटना के संबंध में जेसीपी कानून व्यवस्था ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि पकड़ा गया अभियुक्त अखिलेश उस घर में लगभग 13 साल से ड्राइवरी की नौकरी करता था और साथ में छिटपुट काम भी घर के करता था। अखिलेश ने अपने भाई रवि व एक अन्य साथी के साथ मिलकर इस पूरी घटना का प्लान किया और उसे अंजाम भी दे दिया । चूंकि अखिलेश उस घर का पुराना नौकर था इसलिए उसको वहां की हर गतिविधि के बारे में जानकारी थी और इसी वजह से अखिलेश ने उस दिन अपने भाई रवि को जाकर मिलवाया और बाद में तीसरा साथी भी पहुंच गया तीनों ने मिलकर आईएएस की पत्नी मोहिनी दुबे की गला दबाकर हत्या कर दी और माल लूटकर फरार हो गए।

पैर छुए और गला दबाकर कर दी हत्या

जेसीपी ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि अखिलेश ने अपने मालिक के घर पहुंच कर मालकिन मोहनी दूबे से भाई रवि को मिलवाया और उसे कम पर लगाने की बात कही । इस पर रवि ने मालकिन के पैर छुए और जब वह पैर छूने लगा इस समय अखिलेश ने गला दबा दिया और फिर तीनों ने मिलकर उनकी हत्या कर दी और इस जघन्य वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों ने घर की अलमारी से कीमती जेवरात हुआ अन्य सामान लूट लिया और स्कूटी पर रखकर फरार हो गए।

यह हुआ बरामद

पुलिस के अनुसार पकड़े गए तीनों लुटेरों के कब्जे से लगभग एक करोड रुपए के जेवरात डॉलर व घटना में प्रयुक्त की गई स्कूटी भी बरामद हुई है।

अखिलेश एनकाउंटर में हुआ घायल

पुलिस के अनुसार माल बरामदगी के लिए जब पुलिस की टीम तीनों को लेकर गई तो वहां पर बदमाशों ने एक तमंचा भी छुपा कर रखा था और इससे उसने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। जवाबी फायरिंग में पुलिस ने भी गोली चलाई जिससे अखिलेश के पैर में गोली लगी और वह घायल हो गया पुलिस ने उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है।

Leave a Comment