Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

जालौन में बूंदाबांदी के बाद बदला मौसम का मिजाज सर्द लहर ने कराया सर्दी का एहसास,कृषि वैज्ञानिकों ने कही यह बात

Weather changed after drizzle in Jalaun, cold wave made one feel cold, agricultural scientists said this

(ब्यूरो रिपोर्ट)

Orai / jalaun news today । नवंबर माह पूरा बीत जाने के बाद सर्दी के असर को लेकर बेफिक्र लोग यकायक दो दिन से हुई बूंदाबांदी के बीच बदले मौसम के मिजाज से सिहर उठे, गर्म ऊनी कपड़े, अलमारी से बाहर निकल आए तो वहीं लोगों ने बचाव के अन्य साधनों पर भी गौर करना मुनासिब समझा । फिलहाल जो भी हो दिसंबर माह के पहले सप्ताह में देश के पश्चिमी और उत्तरी क्षेत्र में हुई बारिश के बाद यहां जनपद में भी इसका असर साफ तौर पर दिखाई दिया ।
बीती रात और सोमवार की बूंदाबांदी के बीच सर्द लहर का एहसास हुआ और लोगों में सर्दी के इस मौसम की पहली बार ठंड का असर देखा गया लोग घर से बाहर निकले तो उनके जिस्मो पर गर्म ऊनी कपड़े स्वेटर सोल आदि दिखाई दिए बड़ों ने बच्चों को मफलर और टोपे पहना कर ही स्कूल रवाना किया तो वही रोजाना कामकाज पर आने जाने वाले लोगों का भी यही हाल देखने को मिला। सड़कों पर फेरी लगाने वाले छोटे विक्रेता भी सर्दी के असर को देखते हुए अपने जिस्मों पर गर्म कपड़ों में नजर आए कुल मिलाकर दिसंबर माह के प्रथम सप्ताह ने मौसम की नजाकत को बदल दिया और लोगों को ठीक-ठाक सर्दी का एहसास कराया। बारिश हो जाने के कारण संभावना जताई जा रही है कि आने वाले कुछ दिनों के दौरान तापमान में यकायक गिरावट देखी जा सकती है और कड़ाके की सर्दी के साथ-साथ कोहरे का भी असर देखने को मिलेगा।

रवि की फसलों को लेकर बोले कृषि वैज्ञानिक देर से बुवाई करने वालों को नुकसान

उरई। सर्दी के मौसम में होने वाली बारिश को लेकर कृषि वैज्ञानिकों की राय देखी जाए तो उनका साफ कहना है कि ऐसे किसान जिन्होंने रबी फसल की निधार्रित समय अवधि में अपनी फसलों को बोया है उन्हें अभी हाल में होने वाली इस बारिश का कोई नुकसान नहीं होगा क्योंकि उन्होंने जो भी फसले बोई हैं वह सब अंकुरित हो चुके हैं और यह बारिश का पानी उन्हें फायदा ही पहुंचाएगी डॉ. कोस्टर जोशी कृषि वैज्ञानिक, विज्ञान केंद्र रूरा मल्लू जालौन ने बताया कि जहां तक किसानों के द्वारा अपनी फसलों की बुवाई विलंब से की गई है उन्हें इस बारिश का उस स्थिति में नुकसान हो सकता है जब उनके फसले अंकुरित सही ढंग से न हो पाई हों और बारिश कुछ ज्यादा हो जाए फिलहाल इतना साफ है कि समय पर बुबाई वाले किसानों को इस बारिश का कोई नुकसान नहीं है किसान शिव सिंह लौना चुर्खी ने बताया कि अब तक की बारिश उनके क्षेत्र के किसानों के लिए फायदेमंद ही है।

Contact for advertisement : 8840345105

Our Address : Kaiserbagh Lucknow ! Gomti nagar lucknow ! Bhootnath Indira Nagar Lucknow! Contact 9335088801,8317070299
Visit : www.tuliphitech.com

Leave a Comment